Chhath Puja 2017

chhath puja geet,date,image.song,gana,photo,video,wallpaper

Wednesday, 11 October 2017

छठ व्रत कथा || Chhath Puja 2017 Vrat Katha and Vidhi in Hindi


छठ पूजा व्रत सूर्यदेव भगवान को समर्पित एक विशेष पर्व है। भारत के काफी हिस्सों जैसे की खासकर उत्तर प्रदेश और बिहार में तो इसे एक महापर्व की तरह मनाया जाता है। यह पर्व आदिकाल से ही शुद्धता, स्वच्छता और पवित्रता के साथ मनाया जा रहा है। छठ पर्व के व्रत में छठी माता की पूजा होती है और उनसे उनकी संतान की रक्षा का वर मांगा जाता है।


इस पर्व को कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को मनाया जाता है और इस पर्व का वर्णन भविष्य पुराण में सूर्य षष्ठी के रूप में है। हालांकि अगर लोक मान्यताओं की मानी जाये तो सूर्य षष्ठी या छठ व्रत की शुरुआत रामायण काल से हो गयी थी। इस व्रत को ब​हुत पुराने समय से किया जा रहा है यह व्रज सीता माता समेत द्वापर युग में द्रौपदी ने भी किया था।

See Also: Best Chhath Puja SMS, Wished, Quotes and Greetings

Chhath Puja 2017 Vrat Katha and Vidhi in Hindi


छठ पूजा(Chhath Puja 2017) की कथा के अनुसार एक बार एक प्रियव्रत नाम के एक राजा थे और मालिनी उनकी पत्नी का नाम था। लेकिन दोनों के पास कोई संतान नहीं थी। इस बात से राजा ​प्रियव्रत और उसकी पत्नी मालिनी बहुत दुखी रहते थे। संतान प्राप्ति की इच्छा से एक दिन उन्होंने महर्षि कश्यप द्वारा पुत्रेष्टि यज्ञ करवाया। इस यज्ञ के बाद रानी गर्भवती हो गई।

Chhath Puja 2017 Vrat Vidhi in Hindi

नौ महीने बाद संतान होने का समय आया तो रानी मालिनी को मरा हुआ पुत्र प्राप्त हुआ। इस बात का पता जब राजा को लगा तो राजा को बहुत दुख हुआ। संतान के शोक में उन्होने आत्म हत्या का मन बना लिया। परंतु जैसे ही राजा ​प्रियव्रत ने आत्महत्या करने की कोशिश की उनके सामने एक सुंदर सी देवी प्रकट हुईं।

Chhath Maiya Story in Hindi


देवी ने राजा को सम्बोधित करते हुए कहा कि "मैं षष्टी देवी हूं"। मैं लोगों को संतान का सौभाग्य प्रदान करती हूं। इसके साथ—साथ्ज्ञ जो लोग सच्ची भावना से मेरी पूजा करते हैं मैं उसके सभी प्रकार की कामना को पूरा कर देती हूं। यदि तुम भी मेरी पूजा करोगे तो मैं तुम्हें पुत्र/संतान रत्न प्रदान करूंगी।" देवी की बातों से प्रभावित होकर राजा प्रियवृत ने उनकी आज्ञा का पालन किया।

Recommended: Top 10 Chhath Puja Songs Download

Essay on chhath puja in Hindi


उसके बाद राजा प्रियवृत और उनकी पत्नी ने कार्तिक शुक्ल की षष्टी तिथि के दिन देवी षष्टी की पूजा पूरे विधि -विधान से की। इस पूजा को करने के बाद उन्हें एक सुंदर पुत्र हुआ। तभी से लोग छठ का पावन पर्व मनाने लगे।

छठ व्रत के संदर्भ में एक दूसरी कथा के अनुसार कहा गया है कि जब पांडव अपना सारा राजपाट जुए में हार गए थे, तब द्रौपदी ने छठ को व्रत रखा। इस व्रत के प्रभाव से उसकी मनोकामनाएं पूरी हुईं तथा पांडवों को राजपाट वापस मिल गया।

See Also: Chhath Puja 2017 Latest Video Songs Free Download

Chhath Puja 2017 Vrat Katha In Hindi



इस पर्व की बहुत सारी मान्यताएं है, लोग इसे बडे ही हर्सोलास से मनाते हैं। इस पर्व को बहुत नामों से जाना जाता है जैसे कि छठ, छैठ, छठी, छठ पर्व, छठ पुजा, डाला छठ, डाला पुजा, सूर्य षष्ठी।

इस बार यह पावन पर्व भारत में 23 अक्टूबर 2017 से लेकर 26 अक्टूबर 2017 तक मनाया जाने वाला है।

आपको छठ पूजा की बहुत—बहुत सुभकामनाएं

Recommended: Pawan Singh Chhath Puja Songs Download

No comments:

Post a Comment